पढ़िए, बीजेपी में शामिल होने की संभावनाओं पर क्या बोले गुलाम नबी आजाद?

कांग्रेस के दिग्गज नेता और राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद राज्यसभा से रिटायर हो गए हैं। साथ ही बीते दिनों उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया था कि उन्हें अब किसी भी पद की कोई लालसा नही है और वह लगातार जनसेवा करते रहेंगे। पिछले दिनों फेयरवेल के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी राज्यसभा में गुलाम नबी आजाद से जुड़े एक किस्से को बताते हुए भावुक हो गए थे।

जब गुलाम नबी आजाद ने अपने अंतिम भाषण में उस किस्से का जिक्र किया तो वह भी भावुक हो गए थे। जिसके बाद चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया था और देश की सियासत में पीएम मोदी और आजाद के संबंधों को लेकर जोर-शोर से चर्चा होने लगी थी। उनके बीजेपी में शामिल होने के कयास भी लगाए जा रहे थे। लेकिन मीडिया के सामने अब उन्होंने स्पष्ट कर दिया है कि वह बीजेपी में कभी भी शामिल नहीं होगा।

90 के दशक से एक-दूसरे को जानते है…

मीडिया से बातचीत के दौरान गुलाम नबी आजाद ने पीएम मोदी के साथ संबंधों को लेकर चर्चा की। उन्होंने कहा, ‘हम एक-दूसरे को 90 के दशक से जानते हैं। हम दोनों अपनी पार्टियों के महासचिव थे और अपनी-अपनी पार्टी का पक्ष रखने टीवी पर डिबेट करने जाते थे। अगर हम थोड़ा जल्दी पहुंच जाते थे तो साथ चाय पीते और बातचीत किया करते थे। इसके बाद हम मुख्यमंत्री के तौर पर प्रधानमंत्री की मीटिंग में मिलते थे, फिर वे मुख्यमंत्री और मैं स्वास्थ्य मंत्री था और हम एक दूसरे से 10-15 दिनों में अलग-अलग मुद्दों पर चर्चा किया करते थे।‘

बीजेपी में शामिल होने की बात पर जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘मैं बीजेपी तब शामिल होने के बारे तब सोचूंगा जब कश्मीर में काली बर्फ गिरने लगेगी और बीजपी ही क्यों कोई भी पार्टी। जो लोग ये कह रहे हैं या अफवाह फैला रहे हैं कि मैं बीजेपी में शामिल होने वाला हूं, वो मुझे नहीं जानते।‘ उन्होंने कहा, राजमाता सिंधिया के आरोप पर मैंने सदन में कहा कि इसे लेकर एक कमेटी बनाई जानी चाहिए और इस कमेटी की अध्यक्षता अटल बिहारी वाजपेयी करेंगे और आडवाणी इसके सदस्य होंगे। आजाद ने कहा था कि ये कमेटी 15 दिनों अपनी रिपोर्ट पेश करे और जो सजा कमेटी देगी उसे मैं स्वीकार करुंगा।

यह भी पढ़ें:

पीएम मोदी रोज कर रहे किसानों का अपमान, उनका दिल पूंजीपतियों के लिए धड़कता है- प्रियंका गांधी

पीएम मोदी के निशाने पर कांग्रेस, कहा- किसानों के पवित्र आंदोलन को बदनाम कर रहे आंदोलनजीवी

राज्यसभा में मोदी सरकार पर बरसे आरजेडी सांसद, कहा- सोचिए, मनरेगा नहीं होता तो कोरोना काल में क्या होता?

भारतीय सेना पर विवादित बयान देकर बुरे फंसे वीके सिंह, चीन ने कहा- भारत ने अनजाने में मान ली गलती

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *