IND vs AUS: अश्विन और विहारी की जोड़ी ने मचाया धमाल, सिडनी टेस्ट हुआ ड्रॉ

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में खेला जा रहा तीसरा टेस्ट ड्रॉ रहा। आस्ट्रेलिया की ओर से मिले 407 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम की शुरुआत बेहतरीन रही। भारतीय ओपनर रोहित शर्मा और शुभमन गिल ने पहले विकेट लिए 71 रनों की साझेदारी की। जिसके बाद नियमित अंतराल पर विकेट गिरते गए। ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 407 रनों का लक्ष्य दिया था जिसके जवाब में टीम इंडिया ने आखिरी दिन तक पांच विकेट खोकर 334 रन बनाए थे।

ऑस्ट्रेलिया टीम इंडिया को ऑलआउट करने में नाकाम रही और मैच ड्रॉ रहा। चेतेश्वर पुजारा (77) और ऋषभ पंत (97) ने चौथे विकेट के लिए 148 रनों की लाजवाब साझेदारी की। जिसके बाद हनुमा विहारी (23) और आर अश्विन (39) ने छठे विकेट के लिए साझेदारी कर मैच को ऑस्ट्रेलिया के हाथों से निकाल कर ले आए। 4 मैचों की टेस्ट सीरीज में दोनों टीमें अब भी 1-1 से बराबरी पर है।

पहली इनिंग

तीसरे टेस्ट में आस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 338 रनों का स्कोर खड़ा किया। विल पुकोवोस्की (62), मार्नश लाबुशेन (91) और स्टीव स्मीथ ने 16 चौकों की मदद से 131 रनों की शानदार पारी खेली। पहली पारी में भारत की ओर से ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा ने 4 विकेट चटकाए। जबकि बुमराह और सैनी ने 2-2 और मोहम्मद सिराज को 1 विकेट मिला।

जिसके बाद बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत काफी शानदार रही। 70 रनों के स्कोर पर रोहित शर्मा के रुप में भारत को पहला झटका लगा। फिर शुभमन गिल ने चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर पारी को संभाला। दोनों ही बल्लेबाजों ने 50-50 रनों की पारी खेली। जिसके बाद नियमित अंतराल पर विकेट गिरते गए और भारतीय टीम पहली पारी में 244 रनों पर सिमट गई। आस्ट्रेलिया की ओर से पैट कमिंस ने सबसे ज्यादा 4 विकेट लिए। जबकि स्टार्क (1) और हेजलवुड को 2 विकेट मिले।

दूसरी इनिंग

आस्ट्रेलिया को 94 रनों की बढ़त मिल चुकी थी। जिसके बाद आस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में मार्नश लाबुशेन (73), स्टीव स्मिथ (81) और कैमरुन ग्रीन (84) के बदौलत 6 विकेट के नुकसान पर 312 रनों का स्कोर खड़ा किया। अब भारत को जीत के लिए 407 रनों की दरकार थी। ओपनर रोहित शर्मा और गिल ने भारत को सधी हुई शुरुआत दी। दोनों ही बल्लेबाजों ने दूसरी पारी में भी अर्द्धशतकीय साझेदारी की। टीम के 71 रनों के स्कोर पर शुभमन गिल के रुप में भारत का पहला विकेट गिरा। उन्होंने 31 रनों की पारी खेली।

जिसके बाद रोहित शर्मा और पुजारा ने पारी को आगे बढ़ाया, लेकिन टीम के 92 रनों के स्कोर पर रोहित शर्मा चलते बने। फिर पुजारा ने कप्तान आजिंक्य रहाणे के साथ पारी को आगे बढ़ाया। पांचवे दिन के पहले सेशन में ही आस्ट्रेलियाई पेशर हेजलवुड ने रहाणे को बोल्ड कर भारत को तीसरा झटका दे दिया। जिसके बाद भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत और चेतेश्वर पुजारा के बीच 148 रनों की बेहतरीन साझेदारी हुई।

तीन घंटे तक मैदान पर डटे रहे अश्विन और विहारी

पंत 97 के निजी स्कोर पर आउट हुए। पंत के आउट होते ही पुजारा भी चलते बने। उन्होंने 12 चौके की मदद से 77 रनों की पारी खेली। दिन के अंतिम सेशन से ठीक पहले भारत के सभी प्रमुख बल्लेबाज पवेलियन लौट चुके थे। भारत को अब मैच जीतने के लिए 407 रनों के लक्ष्य तक पहुंचना था, या फिर कैसे भी विकेट बचाकर मैच ड्रॉ कराना था। दिन के अंतिम सेशन में ऑलराउंडर हनुमा विहारी और आर अश्विन ने लगभग साढ़े तीन घंटे तक बैटिंग की और दोनों की बीच शानदार अर्द्धशतकीय साझेदारी हुई। दोनों ने सूझ-बूझ के साथ मैच को आस्ट्रेलिया के पाले से निकालकर ड्रॉ करा दिया।

जब कुंबले के लिए अपनी कप्तानी दांव पर लगा बैठे थे गांगुली

विश्वकप के इतिहास में सौरव गांगुली का यह रिकॉर्ड आज तक नहीं तोड़ पाया कोई कप्तान

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply