विपक्षी पार्टियों ने विधानसभा चुनाव में युवाओं को नौकरी के नाम पर गुमराह करने की कोशिश की थी- जदयू

बिहार की सियासत में उठा-पटक का दौर जारी है। सत्ताधारी एनडीए और विपक्षी दलों के बीच जमकर बयानबाजियां हो रही है और प्रदेश की मौजूदा नीतीश सरकार पर कई तरह के आरोप भी लगाए जा रहे हैं। इसी बीच नीतीश कुमार की पार्टी जदयू ने प्रदेश की विपक्षी पार्टियों पर जमकर हमला बोला है और साथ ही प्रदेश की जनता को गुमराह करने का आरोप भी लगाया है।

राज्य कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में जदयू की ओर से प्रस्ताव पास कर विपक्षी पार्टियों को निशाने पर लिया गया। प्रस्ताव में कहा गया कि चुनाव के नतीजे हमारी अपेक्षा के अनुरूप नहीं आए। चुनाव में उम्मीद के विपरीत सीटें आने से हमारे लाखों कार्यकर्ताओं का मन दुखी जरूर होगा, मगर आपके मनोबल में कोई कमी नहीं आई है।

विपक्षी पार्टियों पर जदयू की तीखी प्रतिक्रिया

जदयू की बैठक में पास हुए प्रस्ताव में कहा गया कि बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में विपक्ष ने युवकों को नौकरी के नाम पर गुमराह करने का प्रयास किया था। एक काल्पनिक और अविश्वसनीय आश्वासन देकर उनके साथ छल करने की कोशिश की गई थी, क्योंकि उनको कुछ करना ही नहीं था।

प्रस्ताव में कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन के दौरान विपक्षी पार्टियों की प्रतिक्रिया को लेकर भी सवाल उठाए गए। प्रस्ताव में कहा गया कि महामारी और लॉकडाउन के दौरान विपक्ष ने सोशल मीडिया पर बिहार की नकारात्मक छवि पेश करने की कोशिश की। यह राज्य के नागरिकों के मनोबल तोड़ने और उन्हें हतोत्साहित करने का प्रयास था।

बीजेपी के रोल पर उठे सवाल

दरअसल, विपक्षी पार्टियां बिहार की कानून व्यवस्था, शिक्षा, स्वास्थ्य समेत कई मुद्दों पर लगातार प्रदेश सरकार पर हमलावर है। लॉकडाउन के दौरान भी विपक्ष ने नीतीश कुमार की कार्यशैली पर सवाल उठाए थे। जिसके बाद बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में प्रदेश की प्रमुख विपक्षी पार्टी आरजेडी ने अपने घोषणा पत्र में 10 लाख युवाओं को नौकरी देने की बात कही थी।

जिसे लेकर जदयू ने अपने प्रस्ताव में तीखी प्रतिक्रिया भी दी है। लेकिन गौर करने वाली बात है कि बिहार में जदयू की सहयोगी पार्टी बीजेपी ने भी 19 लाख युवाओं को रोजगार देने की बात कही थी और साथ ही बिहार चुनाव के दौरान ही बीजेपी नेता ने बिहार में कोरोना वैक्सीन फ्री में भी देने की बात कही थी।

लेकिन समय दर समय ये मुद्दे ओझल होते जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि बिहार चुनाव 2020 में जदयू नेताओं ने चुनाव में मिली हार के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है। पार्टी के कुठ बड़े नेताओं ने स्पष्ट कहा है कि विधानसभा चुनाव में उनकी हार लोकजनशक्ति पार्टी की वजह से नहीं बल्कि बीजेपी की वजह से हुई है।

जीतन राम मांझी ने बीजेपी को बताया साजिश करने वाली पार्टी! नीतीश कुमार की हुई जमकर तारीफ

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply