जीतन राम मांझी ने बीजेपी को बताया साजिश करने वाली पार्टी! नीतीश कुमार की हुई जमकर तारीफ

WordPress database error: [Duplicate entry 'content_after_add_post' for key 'option_name']
INSERT INTO wp_options ( option_name, option_value, autoload ) VALUES ( 'content_after_add_post', 'yes', 'no' )

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में बहुमत हासिल कर सरकार बनाने वाली एनडीए गठबंधन में अंदरखाने कुछ ठीक नहीं चल रहा है। जिसका प्रमाण जदयू नेताओं की बयानबाजियों से लगातार मिल रहा है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी इशारे-इशारे में कई बार ऐसा बयान दे चुके हैं। बीते दिनों जदयू की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में उन्होंने कहा था कि चुनाव के वक्त पता ही नहीं चला कि दोस्त कौन है और दुश्मन कौन?

उनके इस बयान के बाद से बिहार की राजनीतिक गलियारों में हलचलें फिर से तेज हो गई है। इसी बीच नीतीश कुमार के समर्थक और एनडीए के घटक दलों में से एक हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने एक बार फिर से बीजेपी को निशाने पर लिया है। साथ ही नीतीश कुमार की तारीफों के कसीदे भी पढ़े हैं।

नीतीश कुमार के जज्बे को मांझी का सलाम

बीते दिन रविवार को हम अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने इशारे-इशारे में बीजेपी पर हमला बोला और साजिश करने वाली पार्टी करार दिया। बीजेपी का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा, नीतीश कुमार के साथ चुनाव में साजिश हुई। मांझी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार को गठबंधन धर्म निभाना अच्छे से आता है।

मांझी ने कहा, एनडीए गठबंधन में शामिल दल के आंतरिक विरोध और साजिशों के बावजूद भी उनका सहयोग करना नीतीश कुमार की महानता है। राजनीति में गठबंधन धर्म को निभाना अगर सीखना हो तो नीतीश कुमार से सीखा जा सकता है। उन्होंने कहा, गठबंधन में शामिल दल के आंतरिक विरोध और साजिशों के बावजूद भी उनका सहयोग करना नीतीश कुमार को राजनीतिक तौर पर महान बनाता है। हम अध्यक्ष ने अंत में लिखा कि नीतीश कुमार के जज्बे को मांझी का सलाम।

जदयू प्रत्याशियों की हार के लिए बीजेपी जिम्मेदार

दरअसल, बीते शनिवार को जदयू की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक के दौरान बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में चुनाव हारने वाले जदयू प्रत्याशियों ने इस बात का जिक्र किया कि उनकी हार लोक जनशक्ति पार्टी की वजह से नहीं बल्कि बीजेपी की वजह से हुई है। तो वहीं, इशारे-इशारे में नीतीश कुमार ने भी बीजेपी को लेकर अपने मन की बात कह डाली। नीतीश कुमार ने 2 दिनों तक चलने वाले प्रदेश कार्यकारिणी के पहले दिन बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि चुनाव के वक्त उन्हें पता ही नहीं चला कि उनका दोस्त कौन है और दुश्मन कौन?

डोनाल्ड ट्रंप को फोन कर समझाएंगे रामदास अठावले, कहा- खराब कर रहे पार्टी का नाम

नीतीश ने बीजेपी पर बोला जोरदार हमला, कैबिनेट विस्तार में देरी के लिए ठहराया जिम्मेदार

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply