चिराग पासवान की लगातार बढ़ रही मुश्किलें, अब एलजेपी के एकमात्र विधायक होंगे जदयू में शामिल!

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में एनडीए ने बहुमत हासिल कर सरकार बनाई है। प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने एनडीए गठबंधन की ओर से सबसे ज्यादा 74 सीटों पर जीत हासिल की। जबकि नीतीश कुमार के नेतृत्व में जदयू को 43 सीटों से संतोष करना पड़ा था। इसके बावजूद एनडीए की ओर से नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया गया।

बिहार चुनाव में जदयू के खराब प्रदर्शन के लिए कई नेताओं ने लोक जनशक्ति पार्टी और उस पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया था। कई सीटों पर जदयू प्रत्याशियों को काफी कम अंतर से हार मिली थी।

पिछले दिनों जदयू के कई नेताओं ने सार्वजनिक रुप से बीजेपी और एलजेपी को अपने हार के लिए जिम्मेदार बताया था। हालांकि, बिहार चुनाव 2020 में एलजेपी को मात्र 1 सीट पर जीत मिली थी। लेकिन अब उस एक विधायक ने भी चिराग पासवान को दगा देने का खुला संकेत दे दिया है।

जदयू में शामिल हो सकते हैं एलजेपी विधायक

दरअसल, बेगूसराय के मटिहानी विधानसभा सीट से जीत हासिल करने वाले एलजेपी विधायक राज कुमार सिंह ने पिछले दिनों जदयू नेता और शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी से मुलाकात की। जिसके बाद से ही बिहार की राजनीतिक गलियारों में हलचले तेज हो गई।

बताया जा रहा है कि राज कुमार सिंह जल्द ही एनडीए गठबंधन में शामिल हो सकते हैं। हालांकि, अभी आधिकारिक तौर पर इस बात की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन नीतीश कुमार को लेकर दिए गए उनके बयान ने काफी कुछ क्लीयर कर दिया है।

बीते दिन सोमवार को एलजेपी नेता ने अशोक चौधरी से मुलाकात की। जिसके बाद राज कुमार ने कहा कि बिहार में एनडीए मतलब नीतीश कुमार और वे नीतीश के साथ हैं। उन्होंने कहा कि चिराग पासवान नीतीश कुमार पर जो आरोप लगाते हैं उसके बारे में मीडिया को चिराग पासवान से ही पूछना चाहिए।

नीतीश पर हमलावर है चिराग पासवान

बता दें, पिछले दिनों बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में जीत हासिल करने वाले बीएसपी के एकमात्र विधायक जमा खान, अशोक चौधरी के घर पर ही जदयू में शामिल हुए थे। अब एलजेपी विधायक के इस मुलाकात को भी इसी रुप में देखा जा रहा है।

गौरतलब है कि एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर है। पिछले दिनों उन्होंने बिहार में बदहाल हो चुकी कानून व्यवस्था को लेकर भी नीतीश सरकार पर सवाल उठाए थे।

साथ ही मंत्रिमंडल में विस्तार में हो रही देरी के लिए भी उन्होंने नीतीश कुमार को ही जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा था कि ‘हमारे सीएम के लिए राज्य नहीं, पार्टी सर्वोच्च प्राथमिकता रखती है।‘

ममता बनर्जी के साहस से बीजेपी में डर का माहौल, देश और बंगाल दीदी के साथ- नुसरत जहां

नए कृषि कानूनों को लेकर पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह पर भड़की AAP, बताया बीजेपी का एजेंट

नीतीश कुमार को है लालू यादव के स्वास्थ्य की चिंता लेकिन नहीं करेंगे फोन, जानें क्यों?

लालू यादव की स्थिति गंभीर, पैतृक गांव में हो रहा हवन, तेजप्रताप करा रहे श्रीमद्भागवत का पाठ

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *