हिंदुओं पर जुल्म करने वाली ‘इस्लामी आतंकवादी’ हैं ममता बनर्जी, बीजेपी नेता के बिगड़े बोल

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 को लेकर प्रदेश में तैयारियां जोरो पर है। प्रदेश की सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पार्टी ममता बनर्जी के नेतृत्व में एक बार फिर से चुनावी दंगल में उतरने को तैयार है। तो वहीं, दूसरी ओर भारतीय जनता पार्टी ममता बनर्जी के किले में सेंधमारी के प्रयास में लगी है। आरोप-प्रत्यारोप के दौर शुरु हो चुके हैं। दोनों ही ओर से जमकर बयानबाजियां हो रही है।

बीजेपी के नेता लगातार पश्चिम बंगाल चुनाव में बहुमत हासिल कर सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं। इस चुनाव को लेकर देश के अन्य राज्यों की राजनीति में भी हलचल तेज हो गई है। इसी बीच बीजेपी शासित यूपी के योगी आदित्यनाथ सरकार में मंत्री के पद पर काम कर रहे बीजेपी नेता ने ममता बनर्जी पर विवादित टिप्पणी कर दी है। यूपी सरकार में मंत्री आनंद स्वरुप शुक्ला ने ममता बनर्जी को बांग्लादेशी और इस्लामिक आतंकवादी बताया है।

‘ममता बनर्जी….बांग्लादेश में शरण लेने के लिए तैयार हो जाएंगी’

बीते दिन रविवार को बीजेपी नेता ने कहा कि ‘ममता बनर्जी पूरी तरह से बांग्लादेशी बन चुकी है और वहां के इस्लामिक आतंकवादियों के दिशा-निर्देशों पर काम कर रही है।‘ उन्होंने ममता बनर्जी को देश के लिए खतरा भी बताया। योगी सरकार के संसदीय कार्य मंत्री ने कहा कि ‘वो देश के लिए सबसे बड़ी खतरा बन चुकी है। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में हार के बाद वो बांग्लादेश में शरण लेने के लिए तैयार हो जाएंगी।‘

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में बीजेपी का प्रदर्शन नहीं रहा है खास

दरअसल, पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के नेतृत्व में टीएमसी पिछले 2 बार से पूर्ण बहुमत की सरकार बना रही है। साथ ही पश्चिम बंगाल के विधानसभा चुनावों में बीजेपी का प्रदर्शन शुरु से ही कुछ खास नहीं रहा है। तो वहीं, कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियां प्रदेश में अच्छी-खासी सीटें निकालने में कामयाब रही है। ऐसे में पश्चिम बंगाल की 293 विधानसभा सीटों पर टीएमसी को टक्कर देना मामूली आसान नहीं होगा।

बता दें, खबरों के मुताबिक प्रदेश में अप्रैल-मई के महीने में चुनाव होने वाले हैं। जिसे लेकर राजनीतिक पार्टियां राज्य की जनता को लुभाने के प्रयास में लग गई है। सत्ताधारी टीएमसी के साथ-साथ अन्य पक्ष और विपक्षी पार्टियों की ओर से रैली और रोड-शो किए जा रहे हैं। हालांकि, प्रदेश की सत्ता किसके पाले में जाएगी, ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

किसान आंदोलन पर हेमा मालिनी ने कहा- धरने पर बैठे किसानों को ये भी नहीं पता है कि उन्हें क्या चाहिए

किसान आंदोलन: कृषि मंत्री ने कहा- कानून रद्द की मांग छोड़कर कोई अन्य विकल्प बताए किसान

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply