मणिशंकर अय्यर का विवादित बयान, कहा- जिन्ना और गांधी दोनों एक समान

कांग्रेस से निलंबित चल रहे नेता मणिशंकर अय्यर ने अब एक और विवादित बयान दे दिया है । पाकिस्तान के लाहौर में एक अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर ने AMU के जिन्ना विवाद के जरिये भारत पर निशाना साधा है अय्यर की एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें जिन्ना की तुलना महात्मा गांधी से की जा रही है ।

अय्यर ने पाकिस्तान के गुलाब देवी अस्पताल का जिक्र करते हुए कहा कि अगर यहां से महात्मा गांधी की तस्वीर हटा दिया जाए तो भारतीयों को कैसा लगेगा । उन्होंने कहा कि जब मैंने जिन्ना को कायदे आजम कहा तो भारत के कई एंकरों ने मुझ पर सवाल खड़े करना शुरू कर दिया और कहने लगे की कोई भारतीय पाकिस्तान में जा कर राष्ट्रपिता के खिलाफ और भारत के खिलाफ कैसे बोल सकता है । उन्होंने कहा कि वो कुछ ऐसे पाकिस्तानी लोगों को जानते हैं जी महात्मा गांधी का नाम बड़े अदब से लेते हैं तो क्या वो देशद्रोही हो गए ।

तो वहीं अय्यर की इस विवादित बयान से कांग्रेस ने पल्ला झाड़ा है कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद का कहना है कि अय्यर कांग्रेस से निलंबित चल रहे हैं ऐसे में वो क्या बोलते हैं ये उनकी जिम्मेदारी है और उनकी बातों को इतनी तवज्जो देने की कोई ज़रूरत नहीं है । अय्यर का विवादित बयान कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस का नुकसान करा सकता है क्योंकि ठीक इसके पहले गुजरात मे जब चुनाव अपने जोरों पर था तब भी अय्यर का विवादित बयान आया था जिसका खामियाजा कांग्रेस को भुगतना पड़ा ।

आपको बता दें कि अय्यर ने देश बाटने के लिए बीडी सावरकर को जिम्मेदार ठहराया है और जिन्ना को क्लीन चिट दिया है साथ ही अय्यर ने कहा कि भारत का मौजूदा इस्थित सावरकर द्वारा खोजे गए हिंदुत्व शब्द के कारण खराब हुई है जब भारत मे ये शब्द नहीं था तब भारत की इस्थित काफी संतोषजनक था । उन्होंने कहा कि सावरकर इस शब्द के जरिये दो देशों के शिद्धान्त को जन्म दिया और तत्काल सरकार के ये गुरु हैं ।

यह भी पढ़ें:

AMU विवाद पर बोले पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी, मुझे इस घटिया राजनीति से दूर ही रखिए

 

Facebook Comments

Rahul Tiwari

राहुल तिवारी 2 साल से पत्रकारिता कर रहे हैं. वो इंडिया न्यूज़ में भी काम कर चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *