कोरोना टीकाकरण: पीएम ने पाकिस्तान पर कसा तंज, कहा- हमने चीन से दूसरे देशों के नागरिकों को भी बाहर निकाला

भारत में आज शनिवार 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण का काम शुरु हो गया है। देश के लगभग हर राज्यों को मिलाकर आज लगभग 3 लाख लोगों को कोरोना का टीका लगने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद इस टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। जिसके बाद देश को संबोधित करते हुए उन्होंने कोरोना महामारी के शुरुआती दौर की याद दिलाई कि कैसे उनकी सरकार ने देश को लॉकडाउन के लिए तैयार किया। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने कई दफा चीन पर टिप्पणी की और साथ ही इशारों-इशारों में ही पाकिस्तान को एक सबक भी दे दिया।

भारत दूसरे देशों के नागरिकों भी वापस लाया

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि जब कोरोना संक्रमण के कारण दुनिया में लॉकडाउन लगाए जा रहे थे, उस वक्त कई देशों ने अपने नागरिकों को चीन में उनके हाल पर छोड़ दिया था लेकिन हमने वैसा नहीं किया। उन्होंने कहा, ऐसे समय में जब कुछ देशों ने अपने नागरिकों को चीन में बढ़ते कोरोना के बीच छोड़ दिया था, तब भारत, चीन में फंसे हर भारतीय को वापस लेकर आया। पीएम ने कहा कि हम सिर्फ भारत के ही नहीं, बल्कि कई दूसरे देशों के नागरिकों को भी वहां से वापस निकालकर लाए।

पीएम ने जनता कर्फ्यू को दिया श्रेय

दरअसल, चीन में बढ़ रही कोरोना महामारी के बीच पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने अपने नागरिकों को चीन में ही उनके हाल पर छोड़ दिया था। जिसके बाज पाक छात्रों ने पीएम मोदी से गुहार लगाई थी। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में वैश्विक कोरोना महामारी को लेकर सरकार की ओऱ से जारी की पहली पहली एडवायजरी का भी जिक्र किया। साथ ही उन्होंने कहा कि भारत दुनिया के उन पहले देशों में से एक था जिसने अपने एयरपोर्ट्स पर यात्रियों की स्क्रीनिंग शुरु कर दी थी।

पीएम ने भारत में मिले पहले कोरोना वायरस के मामले को लेकर भी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा, 30 जनवरी को भारत में कोरोना का पहला मामला मिला, लेकिन इसके दो सप्ताह से पहले ही भारत एक हाई लेवल कमेटी बना चुका था। पीएम ने जनता कर्फ्यू की सफलता को सराहा और कहा कि जनता कर्फ्यू ने ही देश को मनोवैज्ञानिक रुप से लॉकडाउन के लिए तैयार किया।

ओवैसी को लेकर बीजेपी सांसद का बयान, कहा- उन्होंने बिहार में हमारा सहयोग किया, यूपी और बंगाल में भी करेंगे

रुपेश सिंह मर्डर केस में तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर उठाए सवाल, कहा- मिलावटी सरकार में कोई सुरक्षित नहीं

किसान आंदोलन पर हेमा मालिनी ने कहा- धरने पर बैठे किसानों को ये भी नहीं पता है कि उन्हें क्या चाहिए

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply