ट्वेंटी-20 के फार्मूले पर एनडीए लड़ेगी बिहार में लोकसभा चुनाव

एनडीए में बिहार के लोकसभा सीट की शेयरिंग को लेकर चल रही खींचातानी अब समाप्त हो चुकी है । इस बार गठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी के रूप बीजेपी उभरेगी । तो दूसरी बड़ी पार्टी जदयू होगी । बीजेपी और जदयू के बीच सीटों का बटवारा हो चुका है अब बीजेपी इस मसले पर रामविलास पासवान से बात करेगी ।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक अगर उपेंद्र कुशवाहा एनडीए से बाहर हो कर चुनाव लड़ते हैं तो बीजेपी के पास इस बार 40 में से 20 सीटें होंगी जबकि जदयू के पास 15 और राम विलास पासवान के खाते में महज 5 सीटें हीं जाएंगी । बीजेपी जदयू को पिछले चुनाव में जीती हुई सीटों में से 2 सीटें देने को तैयार है ताकि किसी प्रकार का विवाद न रह जाये हालांकि पिछले चुनाव में जदयू बिल्कुल फिसड्डी साबित हुई थी ।

ऐसे होगा सीटों का बटवारा

एनडीए की सभी घटकों से बीजेपी अलग अलग बात करेगी । बिहार में लोकसभा की कुल सीट 40 है जिसमें बीजेपी 20 पर अपना दावा पेश करेगी । आपको बता दें की 2014 लोकसभा चुनाव में एनडीए को 40 में से 32 सीटें प्राप्त हुई थी जिसमें बीजेपी के पास 30 सीटें थी इन 30 सीटों में बीजेपी की जीत 22 सीटों पर हुई थी । तो वहीं राजद को 4 , कांग्रेस और जदयू को 2 – 2सीटें प्राप्त हुई थीं ।

पार्टी में उपेंद्र कुशवाहा पर बनी है संशय

अगर उपेंद्र कुशवाहा एनडीए में रह कर चुनाव लड़ते हैं तो इस स्थिति में उनके पास 2 सीटें होंगी जब कि जदयू के पास 14 और लोजपा के पास 4 सीटें होंगी । लेकिन उपेंद्र कुशवाहा को लेकर पार्टी में एक संशय बना हुआ है कहीं न कहीं बीजेपी और जदयू को लगता है कि उपेंद्र कुशवाहा इस बार राजद के साथ अपनी खीर पकाएंगे ।

ऐसी स्थिति में जो दो सीटें बचती हैं उन में से एक जदयू और एक लोजपा के खाते में चली जायेगी । कुशवाहा को लेकर चल रहे अटकलों के कारण बीजेपी ने एनडीए के किसी भी घटक को सीट शेयरिंग को फिलहाल सार्वजनिक न करने की शख्त हिदायत दी है ।

Facebook Comments

Rahul Tiwari

राहुल तिवारी 2 साल से पत्रकारिता कर रहे हैं. वो इंडिया न्यूज़ में भी काम कर चुके हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *