राफेल: राहुल की चुनौती स्वीकार कर निर्मला सीतारमण ने पेश किये सबूत, कहा- अब इस्तीफा दो

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी के आरोपों का अब रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने जवाब दिया है. राहुल गाँधी ने रक्षा मंत्री पर यह आरोप लगाया था कि वो प्रधानमंत्री मोदी को बचाने के लिए संसद में झूठ बोल रही है. राहुल ने कहा था कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) को एक लाख करोड़ रुपये की खरीद का आदेश देने पर संसद में झूठ बोला गया. राहुल ने दावा किया था कि HAL का कहना है कि “उसे एक पैसा भी नही मिला”. साथ ही निर्मला सीतारमण को चैलेंज देते हुए कहा था कि वो इसका सबूत दिखाए नही तो मंत्री पद से इस्तीफा दे दें.

तो अब रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहुल गाँधी के इस चैलेंज को स्वीकार करते हुए HAL से की गई डील के दस्तावेज़ को अपने ट्विटर हैंडल पर सार्वजनिक कर दिया. इस दस्तावेज के मुताबिक 2014-18 के बीच HAL ने 26570.8 करोड़ के सौदे साइन किए हैं. जबकि 73000 करोड़ की डील पाइपलाइन में हैं. इस दस्तावेज को सार्वजनिक करते हुए निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को भी एक चुनौती दी है. रक्षा मंत्री ने कहा कि क्या राहुल गाँधी संसद में अब पूरे देश के सामने माफ़ी मांगेंगे और अपने पद से इस्तीफा देंगे ?

https://twitter.com/nsitharamanoffc/status/1081858140289683456

रक्षा मंत्री ने संसद में झूठ बोला: राहुल

इससे पहले राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि, ‘जब आप एक झूठ बोलते हैं, तो आपको पहले झूठ को छिपाने के लिए और अधिक झूठ बोलना पड़ता है. पीएम के राफेल झूठ का बचाव करने की उत्सुकता में, रक्षा मंत्री ने संसद में झूठ बोला. कल, रक्षा मंत्री को संसद के दस्तावेजों से पहले एचएएल को 1 लाख करोड़ के सरकारी आदेश दिखाने होंगे. या इस्तीफा दें.’

आपको बता दें कि कांग्रेस भाजपा पर आरोप लगा रही है कि मौजूदा सरकार ने राफेल डील एचएएल के बजाय अनिल अंबानी की कंपनी के साथ कराई और उन्हें फायदा पहुंचाया. जबकि मोदी सरकार का कहना है कि उनके राज में एचएएल को मजबूत करने का काम किया गया है.

Facebook Comments

Praful Shandilya

praful shandilya is a journalist, columnist and founder of "The Nation First"

Leave a Reply