नीतीश ने बीजेपी पर बोला जोरदार हमला, कैबिनेट विस्तार में देरी के लिए ठहराया जिम्मेदार

बिहार की राजनीतिक गलियारों में एनडीए गठबंधन में अंदरुनी तौर पर चल रहे अनबन को लेकर हलचल तेज है। विपक्ष के कई नेता इसे लेकर बयानबाजी भी कर चुके हैं। इसी बीच प्रदेश के मुखिया नीतीश कुमार ने बिहार में मंत्रिमंडल विस्तार में हो रही देरी के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है। मौजूदा समय में नीतीश मंत्रिमंडल में मात्र 14 लोग हैं, जिनमें से कई लोगों के पास 5 से 6 विभागों की जिम्मेदारी है।

ऐसे में सरकार बनाने के इतने दिनों बाद भी मंत्रिमंडल में विस्तार न होने से भी कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। नीतीश कुमार इस बार पूरी तरह से बीजेपी पर निर्भर हो गए हैं क्योंकि बिहार विधानसभा चुनाव में बीजेपी-जदयू से ज्यादा सीटें जीतने में सफल रही थी। लेकिन इसके बावजूद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ही बनाया गया।

बीजेपी की पहल के बाद ही विस्तार संभव

दरअसल, बीते गुरुवार को बिहार बीजेपी के प्रभारी भूपेंद्र यादव और बिहार बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष संजय जयसवाल ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की थी। जिसके बाद से सियासी गलियारों में इस बात की चर्चा तेज हो गई कि अब जल्द ही बिहार में मंत्रिमंडल का विस्तार होगा। लेकिन नीतीश कुमार ने मीडिया में चल रही खबरों को महज अफवाह करार दिया।

उन्होंने कहा, नेताओं के साथ केवल गपशप हुई। किसी भी प्रकार की कोई राजनीतिक बात नहीं हुई। सीएम ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार में इतनी देर पहले कभी नहीं होती थी। हम तो शुरुआत में ही मंत्रिमंडल विस्तार कर देते थे। उन्होंने स्पष्ट किया कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर जब तक उन लोगों (बीजेपी) की राय नहीं आ जाएगी, जब उन लोगों की रिपोर्ट आ जाएगी तब हो जाएगा मंत्रिमंडल विस्तार, फिलहाल मंत्रिमंडल में कुल मिलाकर 14 लोग हैं।

इससे पहले भी बीजेपी को ठहराया था जिम्मेदार

बता दें, नीतीश कुमार इससे पहले भी मंत्रिमंडल विस्तार में देरी के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहरा चुके हैं। इससे पहले मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर पूछे गए सवाल में उन्होंने कहा था कि जब तक बीजेपी की तरफ से मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर पहल नहीं होती है तब तक मंत्रिमंडल का विस्तार संभव नहीं है। मंत्रिमंडल में मौजूदा समय में मात्र 14 लोग पूरे विभागों की जिम्मेदारी उठ रहे हैं। जबकि जदयू और बीजेपी के पास और भी कई बड़े नेता और विधायक हैं, जो नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल होने की क्षमता रखते हैं।

क्या राजस्थान में फिर से आएगी सियासी सुनामी? वसुंधरा को छोड़ दिल्ली बुलाए गए बीजेपी के सभी बड़े नेता

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply