‘गो कोरोना, कोरोना गो’ के बाद अब ‘नो कोरोना, कोरोना नो’ का जलवा

देश में कोरोना के मामले अभी भी लगातार सामने आ रहे हैं। हर रोज 25 हजार के करीब नए मामले सामने आ रहे हैं और सैकड़ों की संख्या में लोगों की मौतें भी हो रही है। हालांकि, देश में हालात सामान्य करने की कोशिश हो रही है। इसी बीच कोरोना के नए स्ट्रेन ने भारत समेत कई देशों की मुश्किलें बढ़ा दी है। बताया जा रहा है कि कोरोना का नया स्ट्रेन 70 फीसदी ज्यादा आक्रामक है। कोरोना के शुरुआती दौर में एनडीए में बीजेपी की समर्थक पार्टी आरपीआई के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने जानलेवा कोरोना वायरस को लेकर गज़ब की प्रतिक्रिया दी थी। उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें वे गो कोरोना गो का नारा दे रहे थे। इसी बीच कोरोना के नए स्ट्रेन को लेकर भी उन्होंने एक नारा दिया है।

‘नो कोरोना, नो कोरोना’

रामदास अठावले ने कहा है कि, “पहले मैंने ‘गो कोरोना, कोरोना गो’ का नारा दिया और अब कोरोना जा रहा है। इसलिए अब नए कोरोनो वायरस स्ट्रेन के लिए, मैं ‘नो कोरोना, कोरोना नो’ का नारा दे रहा हूं।” गौर करने वाली बात यह है कि कोरोना पर नारे देने वाले केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले खुद भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं।

इससे पहले भी उनकी वीडियो वायरल हुई थी जिसमें उन्होंने मुंबई में चीनी दूत तांग गुओकाई और बौद्ध भिक्षुओं के साथ एक प्रार्थना सभा में गो कोरोना, गो कोरोना का नारा लगाया था। यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हुई थी। जिसे लेकर विपक्षी पार्टियों ने केंद्र सरकार और मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री की जिम्मेदारी उठा रहे रामदास अठावले को निशाने पर लिया था। इसके कुछ दिनों बाद ही वे कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

एक केंद्रीय मंत्री ने कही थी पापड़ से इम्युनिटी बढ़ाने की बात

बता दें, कोरोना को लेकर बीजेपी के कई नेताओं ने अजीबोगरीब प्रतिक्रियाएं दी थी। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मेघवाल ने पापड़ से इम्युनिटी बढ़ाने की बात कही थी। जहां वह एक पापड़ का प्रचार करते हुए यह दावा कर रहे थे कि इसको खाने से कोरोना से बचाव होगा। हालांकि उन्हें इस पापड़ को वोकल फॉर लोकल मुहिम के तहत जारी किया था लेकिन इस वीडियो के चलते उन्हें खासी आलोचनाओं का सामना करना प़ड़ा था। गौरतलब है कि देश में कोरोना के मामले 1,01,87,850 पहुंच चुके हैं। उनमें से 97 लाख से ज्यादा लोगों का सफल इलाज किया जा चुका है। जबकि 1,47,622 लोगों की मौत हो चुकी है।

किसान आंदोलन पर सियासत तेज, जेपी नड्डा ने राहुल गांधी पर बोला जोरदार हमला

‘…जल्द ही हमारे देश के राज्य भी सोवियत संघ की तरह टूट जाएंगे’- शिवसेना

अटल बिहार वाजपेयी: एक स्वतंत्रता सेनानी जो लगातार 3 बार बनें भारत के प्रधानमंत्री

जब अटल जी ने कलाम साहब से कहा था ‘पहली बार कुछ मांग रहा हूं मना मत कीजियेगा’

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply