लगभग तीन महीने बाद बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमतें, अर्थव्यवस्था सुधारने की पहल में सरकार

देश में लॉकडाउन में ढील देकर सरकार भी देश की डगमगाई अर्थव्यवस्था को संभालने में लगी हुई है। इसी कड़ी में एक और ख़बर यह है कि लगभग तीन महीने बाद सरकार ने पेट्रोल एवं डीज़ल की कीमतों में इज़ाफ़ा किया है । इससे पहले पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 16 मार्च को बदलाव किया गया था. लॉकडाउन के दौरान पेट्रोल-डीजल की कीमतों में जो भी उतार-चढ़ाव आयें हैं वो राज्य सरकारों ने किया था। राज्य सरकारों ने अपना राजस्व बढ़ाने के लिए वैट या सेस में बढ़ोत्तरी की थी, जिसके बाद ही पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी देखने को मिली थी ।

आइये जानते हैं क्या है नई क़ीमत

रविवार को देश की राजधानी समेत सभी महानगरों में पेट्रोल-डीजल के भाव में 52 पैसे से लेकर 60 पैसे तक का इजाफा हुआ है. राजधानी दिल्ली में अब नए दाम के बाद पेट्रोल की कीमत 71.86 रुपये प्रति लिटर और डिजल की कीमत 69.99 प्रति लिटर हो गई है. वहीं मुंबई में पेट्रोल प्रति लिटर और डिजल 68.79 रुपये प्रति लिटर मिलने लगी है

आपको बता दें सेंट्रल गवर्मेंट के आदेश पर 25 मार्च से देश भर में कोरोना वायरस की वजह से बंदी हो गयी थी। ईंधन कंपनियों ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में कहा कि “कोविड-19 की वजह से लागू लॉकडाउन से अप्रैल में ईंधन उत्पादों की मांग में 46 प्रतिशत की गिरावट आई थी. अप्रैल में पेट्रोल की बिक्री 61 प्रतिशत, डीजल की 56.7 प्रतिशत और विमान ईंधन एटीएफ की बिक्री 91.5 प्रतिशत घटी थी”।

आपको याद होगा लॉकडाउन के पहले मार्च मे पेट्रोल का दाम बढ़ाया गया था । पिछली बार आयल मार्केटिंग कंपनी ने 16 मार्च को प्रेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ाये थे । अब लॉक डाउन हटने से बढ़ रही है इनकी मांग वही कच्चे तेल की कीमत भी बढ़ गयी है।

कहाँ कितनी बड़ी क़ीमतें ? एक नज़र –

शहर पेट्रोल डीजल

मुंबई 78.91 68.79

हैदराबाद 74.61 68.42

चेन्नई 76.07 68.74

दिल्ली 71.86 69.99

बेंगलुरु 74.18 66.54

नोयडा 74.51 64.53

आईओसी ने कहा कि वह चालू वित्त वर्ष 2020-21 के लिए मंजूर पूंजीगत निवेश को पूरा करेगी. कंपनी ने कहा कि उसने लागत और समयसीमा को सुसंगत करने के लिए सभी निवेश प्रस्तावों की गहराई से समीक्षा की है. कंपनी ने कहा कि वह लागत को लेकर काफी सतर्क और उसने इसे तर्कसंगत बनाने के लिए कदम उठाए हैं। हालांकि, कंपनी ने इन कदमों का ब्योरा नहीं दिया.

चीन के तेवर हुए तल्ख़, मुश्किल में अमेरिका

देश की बड़ी डेरी कंपनी अमूल का एकाउंट हुआ सस्पेंड, चीनी सामानों के बहिष्कार को लेकर चला रहा था मुहिम

प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को दिया 15 दिन का वक्‍त

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *