कृषि कानूनों को लेकर विपक्षी पार्टियों पर बरसे पीएम मोदी, कहा- किसानों को भ्रमित करना छोड़ दें

केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए कृषि कानूनों को लेकर जबरदस्त प्रदर्शन हो रहा है। पिछले 22 दिनों से किसान राजधानी दिल्ली के बॉर्डरों पर डेरा डाले हुए हैं। केंद्र सरकार इस कानून को किसानों के हित में बता रही तो वहीं दूसरी ओर किसान इस कानून को रद्द करने की मांग कर रहे हैं। हालांकि सरकार ने स्पष्ट कर दिया है कि कानून में कुछ संशोधन किया जा सकता है लेकिन कानून रद्द नहीं किया जा सकता। देश की सत्तारुढ़ भारतीय जनता पार्टी इस कानून को लेकर लोगों को जागृत करने के लिए देश भर में किसान सम्मेलन कर रही है।

इसी कड़ी में आज प्रधानमंत्री मोदी मध्यप्रदेश के एक किसान सम्मेलन को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने न सिर्फ इस नए कृषि कानूनों के फायदे बताए, बल्कि विपक्षी पार्टियों पर जमकर हमला बोला। पीएम मोदी ने कहा कि किसानों की उन मांगों को पूरा कर दिया गया है, जिन्हें बरसों से रोका गया था। किसानों के लिए जो नए कानून बने हैं, ये रातों-रात नहीं आए हैं। पिछले दो दशक से केंद्र, राज्य सरकार और संगठन इसपर मंथन कर रहे थे।

विपक्ष किसानों को भ्रमित करना छोड़ दे

पीएम नरेंद्र मोदी ने मध्यप्रदेश के किसानों को संबोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा, ‘जो काम 25 साल पहले होने थे, वे आज करने पड़ रहे हैं। उन्होंने विपक्ष को निशाने पर लेते हुए कहा, जो अपने घोषणापत्र में इन सुधारों की वकालत करते थे, लेकिन कभी लागू नहीं किया. पीएम मोदी ने कहा कि अगर पार्टियों के पुराने घोषणापत्र, कृषि क्षेत्र संभालने वाले लोगों की चिट्ठी देखी जाए तो वहीं बातें नए कृषि सुधारों में की गई हैं।’

आज विरोधियों को इस बात की तकलीफ है कि मोदी ने ऐसा कैसे कर दिया। उन्होंने आगे कहा कि ‘मुझे क्रेडिट मत दो, आपके पुराने घोषणापत्रों को क्रेडिट देता हूं। मैं किसानों को भला चाहता हूं, आप किसानों को भ्रमित करना छोड़ दें। ये कानून लागू हुए 6 महीने से अधिक वक्त हो गया, लेकिन अचानक विपक्ष ऐसे मुद्दे को उठा रहा है। किसानों के कंधे पर बंदूक रखी जा रही है।‘

कांग्रेस द्वारा की गई कर्जमाफी सबसे बड़ा धोखा

पीएम मोदी ने आगे कहा कि ‘जिनकी राजनीतिक जमीन खिसक गई है। आज वो किसानों को डरा रहे हैं कि उनकी जमीन चली जाएगी। उन्होंने आगे कहा कि जो लोग आज आंसू बहा रहे हैं, उन्होंने आठ साल तक स्वामीनाथन रिपोर्ट को दबाए रखा। इन्होंने किसानों पर खर्च नहीं किया।’

पीएम मोदी बोले कि ‘हमने किसानों को डेढ़ गुना MSP दिया. कांग्रेस द्वारा की गई कर्जमाफी सबसे बड़ा धोखा है, MP में भी चुनाव के वक्त 10 दिन में कर्ज माफ करने की बात कही, लेकिन नहीं किया। राजस्थान में भी ऐसा ही हुआ।’ पीएम मोदी ने कहा कि कर्जमाफी की बात करते हैं, लेकिन छोटे किसानों के बारे में नहीं सोचते है।

मोदी जी अब तो बस करो

वहीं, कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा गया है कि ‘अन्नदाताओं की कुर्बानियों से भी जो सल्तनत टस से मस नहीं हो रही, उस तानाशाही, क्रूर सल्तनत की संवेदनाए मृत हो चुकी है। मोदी जी अब तो बस करो, काले कानून अब खूनी कानून साबित हो रहे हैं, बस करो।’

कमलनाथ सरकार गिराने में मोदी जी की अहम भूमिका थी: कैलाश विजयवर्गीय

बिहार के दिग्गज नेताओं ने उठाए सवाल, आखिर कहां गायब हो गए तेजस्वी यादव?

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply