तेजस्वी यादव के धन्यवाद यात्रा पर गरमाई बिहार की सियासत, जदयू ने ‘बताया प्रवासी नेता’

बिहार की राजनीतिक गलियारों में इन दिनों हलचलें काफी तेज है। सत्तारुढ़ एनडीए गठबंधन और विपक्षी दलों के बीच बयानबाजियां जोरो पर है। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में जीत हासिल कर नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार बनाने वाली एनडीए गठबंधन में अरुणाचल प्रदेश की घटना के बाद कथित तौर पर आंतरिक फूट देखने को मिल रहा है।
वहीं, दूसरी ओर बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव बिहार चुनाव के बाद से ही कई बार मध्यावधि चुनाव की बात कर चुके हैं। इसी बीच खबर है कि बिहार चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरने के बावजूद सत्ता से दूर रह गए तेजस्वी यादव जल्द ही बिहार में जनता के बीच लगातार रैलियां करने वाले हैं।

तेजस्वी की धन्यवाद यात्रा

बताया जा रहा है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव मकर संक्रांति के बाद प्रदेश के विभिन्न जिलों में रैलियां कर जनता को संबोधित करेंगे। जिसे धन्यवाद यात्रा का नाम दिया गया है। खबरों के मुताबिक तेजस्वी यादव धन्यवाद यात्रा के दौरान प्रदेश के कई जिलों का दौरा करेंगे और बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी को सबसे बड़ा दल बनाने के लिए लोगों का शुक्रिया अदा करेंगे। साथ ही बिहार में मध्यावधि चुनाव के मुद्दे पर भी लोगों से संवाद कर सकते हैं।

आरजेडी की ओर से लगातार इस बात का दावा किया जा रहा है कि प्रदेश की सत्तारुढ़ एनडीए गठबंधन में स्थिति कुछ ठीक नहीं है। अरुणाचल प्रदेश में जदयू के विधायकों के बीजेपी में शामिल होने का बाद से ही जदयू और बीजेपी के बीच जो तल्खी आई है, उसकी वजह से नीतीश सरकार पर खतरा मंडरा रहा है। आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने दावा किया है कि बिहार में जल्द ही एनडीए सरकार गिरने वाली है।

‘चिराग पासवान ने निभाई वोट कटवा की भूमिका’

जबकि जदयू के ओर से लगातार इस बात पर जोर दी जा रही है कि सरकार पर किसी भी तरह का कोई खतरा नहीं है। बीते दिनों प्रदेश के सीएम नीतीश कुमार ने भी यहीं बात कही थी। तेजस्वी यादव के धन्यवाद यात्रा पर भी जदयू की प्रतिक्रिया सामने आई है। जदयू प्रवक्ता अभिषेक झा ने तेजस्वी यादव को प्रवासी नेता बताया है। उन्होंने कहा, प्रवासी नेता तेजस्वी यादव धन्यवाद यात्री निकालने वाले हैं। तेजस्वी को धन्यवाद नहीं बल्कि माफी यात्रा निकालना चाहिए।

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को जनता से जनादेश का अपमान करने के लिए माफी मांगनी चाहिए, चुनाव आयोग का अपमान करने के लिए माफी मांगना चाहिए। जदयू नेता ने तेजस्वी यादव के बहाने एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान को भी निशाने पर लिया। अभिषेक झा ने कहा, तेजस्वी को अगर किसी का धन्यवाद करना है तो चिराग पासवान का करें, जिन्होंने चुनाव में वोट कटवा की भूमिका निभाई।

कोरोना वैक्सीन पर सियासत, कांग्रेस बोली- पीएम मोदी वैक्सीन लगवाकर दूर करें लोगों की शंका

पंजाब विधानसभा चुनाव को लेकर AAP की तैयारियां तेज, विपक्षियों पर बरसे राघव चड्ढा

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *