क्या राजस्थान में फिर से आएगी सियासी सुनामी? वसुंधरा को छोड़ दिल्ली बुलाए गए बीजेपी के सभी बड़े नेता

राजस्थान की सियासत में हलचल तेज हो गई है। राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी कथित तौर पर कई खेमे में बंटी हुई है। जिसमें राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी की दिग्गज नेता वसुंधरा राजे सिंधिया का खेमा मजबूत बताया जाता है। लेकिन इस बार स्थिति कुछ अलग बताई जा रही है। दरअसल, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आज राजस्थान बीजेपी के दिग्गज नेताओं को दिल्ली तलब किया है। बीजेपी अध्यक्ष से मिलने सीतश पूनिया, गुलाबचंद कटारिया और राजेंद्र राठौर दिल्ली पहुंच गए हैं। लेकिन प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया को बैठक में नहीं बुलाया गया है। जिसे लेकर प्रदेश की सियासत में हलचल तेज हो गई है।

बैठक के बाद गहलोत सरकार की बढ़ सकती है मुश्किलें

जेपी नड्डा के इन नेताओं के बुलाने को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। पिछली बार राजस्थान कांग्रेस में पड़ी फूट के समय ये सारे नेता दिल्ली पहुंचे थे, जिसके बाद जमकर बवाल भी हुआ था। इस बार एक बार फिर से सभी नेता दिल्ली पहुंचे हैं, तब से प्रदेश की सियासत में इस बात की चर्चा तेज हो गई है कि कहीं इस बैठक के बाद फिर से अशोक गहलोत सरकार पर संकट न आ जाए। खबरों के मुताबिक राजस्थान कांग्रेस में अंदरखाने सबकुछ ठीक नहीं चल रहा।

ऐसे में बताया जा रह है कि इस मीटिंग के बाद राजस्थान की सियासत में कुछ बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। हालांकि, बीजेपी राजस्थान के अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा है कि ये सामान्य बैठक है और राजस्थान में विधानसभा के तीन उप-चुनाव होने है, साथ ही निकायों के चुनाव होने हैं, जिसकी तैयारियों के सिलसिले में यह बैठक बुलाई गई है।
राजस्थान में मजबूत हो रहा वसुंधरा विरोधी खेमा

बता दें, कुछ दिनों पहले वसुंधरा राजे के धुर विरोधी नेता घनश्याम तिवारी की बीजेपी में वापसी हुई है। बताया जा रहा है कि वसुंधरा राजे सिंधिया के विरोध की वजह से उनकी वापसी नहीं हो रही थी, लेकिन वो अब बीजेपी में शामिल हो चुके हैं। साथ ही राजस्थान बीजेपी के इस महत्वपूर्ण बैठक में पूर्व सीएम वसुंधरा राजे को न बुलाना भी, इस बात की ओर इशारा कर रहा है कि प्रदेश की राजनीति में वसुंधरा विरोधी खेमा मजबूत होता जा रहा है। जिसके कारण बीजेपी उन्हें साइडलाईन करने में लगी हुई है।

प्रकाश पर्व पर पीएम मोदी को नहीं मिला आमंत्रण, कांग्रेस ने जताई आपत्ति, AAP और अकाली दल ने बताया सही फैसला

कोरोना वैक्सीन पर सियासत, तेजप्रताप बोले- पहले पीएम नरेंद्र मोदी लगवाए टीका

तेजस्वी यादव के धन्यवाद यात्रा पर गरमाई बिहार की सियासत, जदयू ने ‘बताया प्रवासी नेता’

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply