विश्वकप के इतिहास में सौरव गांगुली का यह रिकॉर्ड आज तक नहीं तोड़ पाया कोई कप्तान

क्रिकेट का महाकुंभ विश्वकप शुरू होने में अब कुछ ही दिन बचे हैं. 30 मई से शुरू हो रहा क्रिकेट का यह महाकुंभ 14 जुलाई तक चलेगा, जिसमें इस बार कुल 10 टीम हिस्सा लेंगे. 1975 में पहली बार क्रिकेट वर्ल्डकप का आयोजन हुआ था. 44 साल का इतिहास समेटे यह विश्वकप टूर्नामेंट कई मायनों में खास है.

वर्ल्डकप के इतिहास में अब तक 107 खिलाड़ियों ने कप्तानी की है. लेकिन इनमें से कुछ ही ऐसे गिने-चुने कप्तान हैं जिनके नाम कोई अटूट रिकॉर्ड दर्ज है. आज हम भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली के नाम दर्ज एक ऐसे ही अटूट रिकॉर्ड के बारे में आपको बताने जा रहे हैं.

दरअसल, बतौर कप्तान सौरव गांगुली के नाम वर्ल्डकप के एक सीजन में सबसे ज्यादा शतक लगाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज है. क्रिकेट के इतिहास को अगर खंगाले तो बहुत ही कम ऐसे खिलाड़ी हुए हैं जिसने विश्वकप जैसे बड़े इवेंट में बतौर कप्तान एक अमिट छाप छोड़ी हो. सौरव गांगुली उन्हीं चंद खिलाड़ियों में से हैं.

गांगुली के नाम वर्ल्ड रिकॉर्ड 

हालांकि, गांगुली ने बतौर कप्तान एक भी वर्ल्डकप नहीं जीता है. लेकिन, उन्होंने भारतीय टीम को जीतना जरूर सिखाया है. जब टीम बुरे दौर से गुजर रही थी तब गांगुली ने बतौर कप्तान न सिर्फ टीम को संभाला बल्कि उनके अंदर मैच जीतने की एक दृढ इक्षाशक्ति भी पैदा की. नए प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को टीम में मौका दिया.

2003 विश्वकप में भारतीय टीम गांगुली की कप्तानी में फाइनल तक पहुंची. हालांकि, फाइनल में टीम ऑस्ट्रेलिया के हाथों बुरी तरह हार गयी थी लेकिन, गांगुली ने इस सीजन में बतौर कप्तान तीन शतक लगाए थे जो की अब तक एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है. गांगुली के बाद अब तक किसी ने वर्ल्डकप में बतौर कप्तान 3 शतक नहीं लगाये हैं . गांगुली के बाद दूसरे नंबर पर रिकी पोंटिंग थे, जिन्होंने इसी वर्ल्ड कप में दो शतक लगाए थे.

गांगुली की एक गलती और हाथ में आते-आते रह गया 2003 का विश्वकप

अगर गांगुली नही देते ये कुर्बानी तो धोनी नही बन पाते एक महान खिलाड़ी

गांगूली का एक फैसला और सहवाग विस्फोटक बल्लेबाजों के लिस्ट में शुमार हो गए

लेटेस्ट अपडेट के लिए हमारे facebook पेज से जुड़े 

Facebook Comments

Praful Shandilya

praful shandilya is a journalist, columnist and founder of "The Nation First"

Leave a Reply