रुपेश सिंह मर्डर केस में तेजस्वी ने नीतीश सरकार पर उठाए सवाल, कहा- मिलावटी सरकार में कोई सुरक्षित नहीं

सुशासन बाबू के नाम से प्रसिद्ध नीतीश कुमार शासित बिहार में क्राइम की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही है। लोग इसे जंगलराज पार्ट-2 की संज्ञा दे रहे हैं। प्रदेश में लगभग हर रोज गोलीबारी और मर्डर जैसी घटनाएं सामने आ रही है, जिसे लेकर प्रदेश की एनडीए सरकार विपक्षी पार्टियों के निशाने पर है। इसी बीच बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष और आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव ने क्राइम के मामले पर बिहार सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा है कि बिहार की मिलावटी सरकार में कोई सुरक्षित नहीं है।

‘मिलावटी सरकार में कोई सुरक्षित नहीं’

खबरों के मुताबिक बिहार की प्रमुख विपक्ष पार्टी आरजेडी के नेताओं और उनके संबंधियों को टारगेट किया जा रहा है औऱ उनपर हमले भी हो रहे हैं। जिसे लेकर तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर हमला बोला है।

उन्होंने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा, ‘बिहार की मिलावटी सरकार में कोई सुरक्षित नहीं है। विधायकों और उनके परिजनों पर सरेआम सरेराह गोलियां बरसाई जा रही है। जब तक मुख्यमंत्री और दो-दो उपमुख्यमंत्री बिहार में प्रतिदिन 100-150 लाशें नहीं गिन लेते, उन्हें नींद नहीं आती। जंगलराज के महाराजा चुप क्यों हैं?’

दरअसल, बीते दिन बुधवार देर रात बिहार सरकार के पूर्व मंत्री और आरजेडी विधायक अवध बिहारी चौधरी के दामाद पर फायरिंग की घटना सामने आई है। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी फरार हो गए। हालांकि, आरजेडी विधायक के दामाद की जान बाल-बाल बची है।

रुपेश सिंह मर्डर को लेकर निशाने पर नीतीश सरकार

बता दें, पिछले दिन इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रुपेश कुमार सिंह की हत्या का मामला सामने आया था। जिसे लेकर भी विपक्षी पार्टियों ने नीतीश सरकार पर सवाल उठाए थे। तेजस्वी यादव ने इस मामले को लेकर सरकार पर जोरदार हमला बोला था। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था कि ‘बिहार में लगातार घटनाएं बढ़ती जा रही है, लोग अपने घर से बाहर निकलने में असहज महसूस कर रहे हैं, अब तो घर में घुसकर लोगों को गोली मार दी जा रही है, एक गोली नहीं, सुनने में आया है कि 15 राउंड गोली चली, जिसमें 6 राउंड गोली रुपेश जी को लगी।‘ हालांकि, इस मामले में नीतीश सरकार ने सख्त एक्शन लेते हुए कार्रवाई शुरु कर दी है। बीते दिनों बिहार के उपमुख्यमंत्री ने कहा था कि किसी भी हद तक जाकर वे अपराधियों को पकड़ेगें।

किसान आंदोलन पर हेमा मालिनी ने कहा- धरने पर बैठे किसानों को ये भी नहीं पता है कि उन्हें क्या चाहिए

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply