किसानों की मांगें माननी होगी, हम सरकार को चैन से नहीं बैठने देंगे- राकेश टिकैत

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों को लेकर विरोध जारी है। दिल्ली के बॉर्डरों पर किसान लगातार इस कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं और केंद्र सरकार से इसे रद्द कर एमएसपी पर कानून बनाने की मांग कर रहे हैं। धीरे-धीरे आंदोलन अब बड़ा रुप लेते दिख रहा है।

देश के कई हिस्सों में हर रोज महापंचायत हो रही है और किसान नेता उसे संबोधित करते हुए दिख रहे हैं। किसान आंदोलन का केंद्र बन चुके गाजीपुर बॉर्डर पर हजारों की संख्या में किसान डटे हुए हैं। इसी बीच भारतीय किसान यूनियन के नेता और प्रवक्ता राकेश टिकैत ने महापंचायत को संबोधित करते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर जबरदस्त हमला बोला है।

पूरे देश में किसान महापंचायत करेंगे टिकैत

बीते दिन रविवार को हरियाणा के करनाल में किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए राकेश टिकैत ने कहा, ‘प्रजातंत्र में हम अपनी बात कहने के लिए दिल्ली भी नहीं जा सकते क्या? खाई खोदकर, पानी की बौछारें और आंसू गैस के गोले से हमारा ही तो रास्ता रोका गया। अब हमारे ऊपर ही मुकदमे बनाए जा रहे हैं।‘ उन्होंने कहा कि असल में मुकदमे तो उनपर दर्ज होने चाहिए जिन्होंने हाइवे खोदकर जनता के रुपये का नुकसान किया है।

महापंचायत के बाद राकेश टिकैत ने कहा, अब ये आंदोलन और बड़ा होता जा रहा है। हर रोज महापंचायत हो रही है और ज्यादा से ज्यादा किसान पहुंच रहे हैं। साथ ही किसान महापंचायतों में आम लोग भी भारी संख्या में आ रहे हैं। अब वे पूरे देश में ऐसे ही किसान महापंचायत करेंगे।

‘कानून बनने से पहले ही गोदाम बना दिए गए’

राकेश टिकैत स्पष्ट कर दिया है कि जब तक तीनों खेती कानून रद्द नहीं होते तब तक किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। यह आंदोलन एक वैचारिक क्रांति है इसे किसी भी सूरत में दबाया नहीं जा सकता। पहले की तुलना में यह लगातार बढ़ रहा है।

किसान नेता ने कहा कि सरकार को किसानों के हक में बात करनी होगी। हम सरकार को चैन से नहीं बैठने देंगे। संसद में किसानों के लिए मौन का मजाक उड़ाया गया। उन्होंने कहा, पूरे देश से किसानों से सस्ते में फसल खरीद कर हरियाणा में बेची जाती है। एमएसीपी की गारंटी सरकार को दनी पड़ेगी।

उन्होंने कहा, ये व्यापारियों के हक के कानून हैं। कानून बनने से पहले ही गोदाम बना दिए गए। गरीब की रोटी तिजोरी में नहीं जाने देनी। जैसे पेट्रोल की कीमत बढ़ती है वैसे रोटी की कीमत बढ़ेगी। राकेश टिकैत की ओर से लगातार कहा जा रहा है कि यह आंदोलन पूरे देश मे जाएगा।

यह भी पढ़ें:

Bengal Elections: कांग्रेस के दिग्गज नेता का बयान, आगामी चुनाव में BJP का मुकाबला नहीं कर सकती TMC

शिकागो यूनिवर्सिटी से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘ट्रोल्स मेरी समझ को तेज करते हैं मेरे मार्गदर्शक जैसे हैं’

अयोध्या राम मदिर: कोरोना के कहर बावजूद राम मंदिर के लिए सिर्फ 27 दिनों में 1,500 करोड़ का मिला अनुदान

पढ़िए, बीजेपी में शामिल होने की संभावनाओं पर क्या बोले गुलाम नबी आजाद

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े

Facebook Comments

Leave a Reply