क्या बंगाल चुनाव 2021 में बीजेपी की ओर से सौरभ गांगुली होंगे मुख्यमंत्री चेहरा ?

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 को लेकर राजनीतिक पार्टियों ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है। सत्तारुढ़ तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच आरोप-प्रत्यारोप के दौर शुरु हो चुके हैं। ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के कई बड़े नेता बीजेपी में शामिल हो चुके हैं तो वहीं बीजेपी के कुछ नेता टीएमसी की डोर पकड़े हुए है। टीएमसी एक बार फिर प्रदेश की मौजूदा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चेहरे पर ही चुनाव लड़ने वाली है।

जबकि बीजेपी की ओर से सीएम फेस को लेकर अभी तक कुछ भी स्पष्ट नहीं किया गया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष सौरभ गांगुली बंगाल चुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार हो सकते हैं। लेकिन गौर फरमाने वाली बात यह है कि सौरभ गांगुली अभी तक राजनीति में आए नहीं है और न ही बीजेपी में शामिल हुए है। ऐसे में वो बीजेपी के सीएम होंगे या नहीं इस पर सस्पेंस बरकरार है।

‘पार्टी में काम करने के बाद ही गांगुली होंगे सीएम पद के दावेदार’

दूसरी ओर पश्चिम बंगाल में बीजेपी की ओर से सीएम फेस के कई बड़े दावेदार भी हैं। बीजेपी बंगाल के कई नेता पिछले कई सालों पार्टी की सेवा के साथ-साथ बंगाल में अपनी पकड़ बनाने की कोशिशों में लगे है। ऐसे में बीजेपी को उन्हें साइड लाइन करना आसान नहीं होगा। बीजेपी बंगाल के अध्यक्ष दिलीप घोष भी सीएम फेस के दावेदारों में से एक हैं। हाल ही में दिलीप घोष ने सौरभ गांगुली के बीजेपी में शामिल होने और सीएम फेस बनाने को लेकर अहम बयान दिया है।

उन्होंने कहा,‘मुख्यमंत्री बनने से पहले सौरभ गांगुली को पार्टी में शामिल होना होगा। उन्हें पार्टी के लिए काम करना होगा। उसके बाद ही वह किसी पद के दावेदार हो सकते हैं।‘ बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी सीएम फेस के दावेदारों में से एक है। वह पिछले कई सालों से ममता बनर्जी के गढ़ पश्चिम बंगाल में पार्टी के लिए काम कर रहे हैं। इनके अलावा पार्टी के कई बड़े नेता पिछले कई सालों से प्रदेश में बीजेपी के लिए काम कर रहे हैं।

सौरभ गांगुली की ओर से नहीं आया है कोई स्पष्टीकरण

बता दें, पिछले दिनों सौरभ गांगुली ने प्रदेश के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से मुलाकात की। ठीक उसके अगले दिन पूर्व केंद्रीय मंत्री और दिवंगत बीजेपी नेता अरुण जेटली की प्रतिमा के अनावरण में भी गांगुली शामिल हुए थे। उस कार्यक्रम में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी मौजूद थे। जिसके बाद इस बात के कयास लगने शुरु हो गए है कि गांगुली जल्द ही बीजेपी में शामिल हो सकते हैं और उन्हें पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव 2021 के लिए सीएम फेस बनाया जा सकता है। हालांकि अभी तक सौरभ गांगुली की ओर से इस मामले में कोई स्पष्टीकरण सामने नहीं आया है और ना ही बीजेपी ने कुछ क्लीयर किया है।

West Bengal Election 2021: बीजेपी में शामिल होने के सवालों पर क्या बोले सौरभ गांगुली?

जब कुंबले के लिए अपनी कप्तानी दांव पर लगा बैठे थे गांगुली

लेटेस्ट खबरों के लिए हमारे facebooktwitterinstagram और youtube से जुड़े 

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *